संघ के नेताओं में देशद्रोह की फितरत शामिल, दुनिया को उच्च शिक्षा देने वाला मुसलमान ही है : एसडीपीआई

SDPI_PROGRAM_

नई डली / बेंगलूरू (सा.भा.ब्यूरो) इतिहास गवाह है कि मुसलमानों ने हमेशा प्यार के संदेश को आम किया है और न्यायप्रिय लोग आज भी इससे इंकार नहीं कर सकते कि दुनिया को उच्च नैतिक शिक्षा देने वाला कोई और नहीं बल्कि मुसलमान ही हैं। ऐसे में मुसलमानों पर राजद्रोह और आतंकवादी जैसे आरोप इतिहास को नज़रअंदाज़ करने के बराबर है। बेंगलूरू के टाउन हॉल में सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) द्वारा आयोजित ‘आतंकवाद विरोधी अभियान‘ के उद्घाटन समारोह में लोगों को संबोधित करते हुए एसडीपीआई के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महबूब शरीफ अवाद ने किया।

उन्होंने कहा कि मुसलमान अमन पसंद रहे हैं और मरते दम तक देश की रक्षा करेंगे। इसके हज़ारों उदाहरण इतिहास में मौजूद हैं और मुसलमानों ने अपनी जान की बाज़ी लगा कर देश की रक्षा की है।  उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक तत्व आज मुसलमानों पर आतंकवाद और देशद्रोह का आरोप  लगाते हैं। हालांकि पूरी दुनिया इस बात से वाकिफ हैं कि देश से प्यार करना मुसलमानों के ईमान में शामिल है। संघ परिवार और उसके सहयोगी संगठनों के बारे में उन्होंने कहा कि देशद्रोह और आतंकवाद उनकी फितरत में शामिल है जांच करने पर उन्हीं लोगों के नाम आतंकवादी सूची में ऊपर हैं। जो अल्पसंख्यकों पर उंगली उठाते हैं।

पाॅपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के राष्ट्रीय सचिव अब्दुल वाहिद सेठ ने इस मौके पर संघ परिवार और उसकी योजनाओं का खुलासा करते हुए कहा कि मुसलमानों के साथ दुश्मनी उसके खून में शामिल है। हिन्दुत्वा के एजेंडे पर पहले दिन से ही काम हो रहा है और इस एजेंडे को ज़बरदस्ती देश पर थोपने की कोशिशें की जा रही हैं। इसके लिए रोज़ नए हथकंडे अपनाए जा रहे हैं।

एसडीपीआई के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रोफेसर ने कहा आज एसडीपीआई इस काम को अंजाम दे रही है अवाम को चाहिए एक दूसरे का सहयोग करें और सांप्रदायिक दल भाजपा और आरएसएस के खिलाफ उठ खड़े हों।बेगम ने इस अवसर पर युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि अपने चरित्र को बहतर बनाओ यही हमारे लिए सबसे अच्छा और शक्तिशाली हथियार है।

इस मौक़े पर संबोधित करते हुए एसडीपीआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ए सईद ने कहा कि यह देश हमारा है और इसमें सभी को समान अधिकार हैं मगर कट्टरपंथी ताकतें सांप्रदायिक दंगों के ज़रिय देश को बर्बाद करना चाहती है। उन्होंने कहा कि एसडीपीआई इन अत्याचारों के खिलाफ उठ खड़ी है।
इस मौके़ पर आल इंडिया इमाम्स काउंसिल के उपाध्यक्ष मुफ्ती ज़मीर अहमद, कर्नाटक राज्य किसान संघ के उपाध्यक्ष वीरा सांग्या, एसडीपीआई के राष्ट्रीय महासचिव इलियास मोहम्मद थुम्बे और अन्य ने भी इस विशाल आयोजन में मौजूद लोागें को संबोधित किया।

एसडीपीआई के राष्ट्रीय महासचिव अफसर पाशा ने लोगों का स्वागत किया जबकि प्रदेश महासचिव अब्दुल मजीद ने आभार प्रदान किया। पार्टी के राज्य सचिव अब्दुल हन्नान ने संचालन किया। इस अवसर पर हज़ारों की संख्या में महिलाएं व पुरूष मौजूद थे।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *