मुग़ल शासकों को हिन्दू धर्म से था प्रेम, वह चाहते तो भारत को मुस्लिम राष्ट्र बना दते : दिग्विजय सिंह

 नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि मुगल साम्राज्य के दौरान हिंदुओं और सनातन धर्म को बढ़ाने की अनुमति थी |

जी न्यूज को दिए इन्टरव्यू में द हिंदु की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा दिग्विजय ने कहा अगर आप भारत में मुग़ल शासन की के दौर की जाँच करेंगें तो देखेंगें उन्होंने हिन्दुओं को सनातन धर्म को विकसित करने की इजाज़त दी थी| उन्होंने लगभग 500 सालों तक मुल्क पर शासन किया अगर वो चाहते तो भारत को मुस्लिम राष्ट्र बना सकते थे लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया |

भारत में अल्पसंख्यकों के खिलाफ नफरत भरे अपराधों को देखते हुए सिंह ने कहा कि अकबर ने हिन्दू जनरलों और सलाहकारों की नियुक्ति की थी।अगर हम अकबर के दरबार के नौरत्नों को देखते हैं तो उनमें ज़्यादातर हिन्दू थे |

सिंह ने भाजपा पर कट्टरपंथी तत्वों का समर्थन करने का आरोप लगाते हुए कहा कि “भाजपा इन लोगों द्वारा पैदा किये गये का ध्रुवीकरण पूरा फायदा उठाती लेकिन उन पर नियंत्रण नहीं रख पाती है बिलकुल ऐसे जैसे बोतल से जिन को बाहर निकालना आसन होता है लेकिन उसको वापस बोतल में भेजना बहुत मुश्किल हम साम्प्रदायिकता के इस जिन से बहुत डरे हुए हैं और चाहते हैं कि असहिष्णुता के इस मुद्दे पर बहस की जाए।
उन्होंने आगे कहा कि भाजपा और आरएसएस मुसलमानों के ख़िलाफ़ हिन्दुओं को खड़ा कर रहे हैं । सियासत

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *