केजरीवाल संकट में , भाजपा ने जारी किया PM मोदी का असली डिग्री, कहा- माफी मांगे

narendra-modi-ma-and-ba-digree-confrence

नई दिल्ली : पीएम नरेंद्र मोदी की शैक्षिक योग्यता को लेकर उठ रहे सवालों के बीच बीजेपी ने आज इस मुद्दे पर सफाई दी है. बीजेपी ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि यह आरोप सरासर गलत हैं. प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बीए और एमए की डिग्रियों की कॉपी भी मीडिया को उपलब्ध कराई. इस दौरान अमित शाह ने कहा कि केजरीवाल को स्तरहीन और झूठी बात कहने के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए.

अमित शाह ने कहा, “अरविंद केजरीवाल पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ झूठ फैला रहा हैं और उनकी छवि खराब करने में जुटे हैं. उन्हें न सिर्फ पीएम मोदी से बल्कि राष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए.”

बीजेपी के इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में वित्त मंत्री अरुण जेटली भी मौजूद थे. उन्होंने बताया कि 70 के दशक में किस तरह पीएम मोदी परीक्षा देने के लिए दिल्ली आया करते थे. उन्होंने कहा कि एबीवीपी के कार्यालय में रुक कर वे परीक्षा दिया करते थे. जेटली ने कहा कि जिस तरह से नरेंद्र मोदी ने विपरीत परिस्थितियों में पढ़ाई की है, उसकी तारीफ की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने डीयू से बीए और गुजरात यूनिवर्सिटी से एमए किया है.

इससे पहले, अमित शाह ने केजरीवाल पर जमकर हमला बोला. उन्होंने यह भी कहा कि वे दिल्ली के मुख्यमंत्री को इस बारे में पत्र भि लिखेंगे. उन्होंने कहा कि केजरीवाल को बताना होगा कि आखिर किस आधार पर उन्होंने यह झूठ फैलाया है. हालांकि, उन्होंने साफ किया कि इस मामले में उनकी ओर से कोई मानहानि का मुकदमा नहीं किया जाएगा.

आपको बता दें कि बीते दिनों अरविंद केजरीवाल ने मुख्य सूचना आयुक्त से पीएम नरेंद्र मोदी की डिग्रियां जारी करने की मांग की थी.
क्या है मामला?
आम आदमी पार्टी का दावा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 के चुनाव में दिल्ली यूनिवर्सिटी से 1978 में अपनी ग्रेजुएशन और 1983 में गुजरात यूनिवर्सिटी से एमए की डिग्री को लेकर झूठ बोला है. केजरीवाल ने पिछले हफ्ते पीएम की डिग्री को लेकर दिल्ली यूनिवर्सिटी को चिट्ठी लिखी थी और उसकी डिटेल वेबसाइट पर डालने की मांग की थी.

आप का आरोप है कि 1978 में नरेंद्र दामोदर मोदी ने नहीं, बल्कि राजस्थान के अलवर के रहने वाले नरेंद्र महावीर मोदी ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से डिग्री ली थी.

इस मामले में केजरीवाल की मांग के बाद मुख्य सूचना आयुक्त ने दिल्ली यूनिवर्सिटी को मोदी की डिग्री की जानकारी देने का आदेश दिया था.

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *