ओखला : वर्तमान एसएचओ,बढ़ता क्राइम का प्रकोप, दबंगों ने घर में घुसकर महिला को मारी गोली ,घायल

नई दिल्ली ( एस.बी.टीम ) दक्षिण पूर्वी दिल्ली के ओखला विधानसभा क्षेत्र के जामिया नगर थाने के वर्तमान थानेदार विजय पाल हैं उनकी देखरेख में कानून व्यवस्था बुरी तरह से ठप है, आए दिन बड़ेबड़े अपराध घटित हो रहे छोटे क्राइम की कोई गिनती ही नहीं है। विजय पाल अपराध को रोकने में पूरी तरह से फ्लॉप हैं उसी का नतीजा है कि क्षेत्र में अपराध, गुंडागर्दी, लूटपाट,हत्या,चोरी का बोल बाल है। वर्तमान थानेदार के इस रवैये से यहां के शरीफ लोग काफी चिंतित।

इन के बारे में सूत्रों का कहना है कि उनकी छुट्टी का बहुत कम दिन बचा है इसलिए वह अपराध को नियंत्रित करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहे बस वह इस फिराक में हमेशा रहते हैं कि माल कहां से आए।

आप को बता दें कि जब से उन्होंने जामिया नगर थाने की जिम्मेदारी संभाली है तब से क्षेत्र में अवैध रूप से सरकारी भोमियों पर कब्जा खूब हुए हैं और उन बिल्डिगों जिस पर डीडीए या फिर एमसीडी ने निर्माण पर रोक लगा रखा था उनकी निगरानी में वे सारे बिडिंग आज निर्माणाधीन हैं या किये जा चुके हैं।

यहां के लोगों का मानना है कि यह केवल पैसा कमाने के लिए कर रहे हैं उन्हें कानून व्यवस्था से कोई लेना देना नहीं हे। बहर हाल कुछ भी हो उनकी उपस्थिति में कानून व्यवस्था ठप होने का सबूत हर दिन मिल ही जाता।

ताज़ा उदाहरण बीती रात में कुछ लोग एक महिला के घर में जबरन घुस गए और उसे गोली मार दी जिससे वह बुरी तरह घायल हो गयी, लोगों ने पुलिस को सूचित किआ, महिला को तुरंत अस्पताल ले जाया गया वह टरामासेनटर में ज़ेरे इलाज हैं।

मिली जानकारी के अनुसार बलात्कार करने वाले जिन के खिलाफ प्राथमिकी अभी जल्द ही दर्ज हुई थी वही लोग महिला के घर में हथियारों की नोक पर घुस गए और लड़की की मां को गोली मार दी जिससे वह बुरी तरह घायल हो गई गोली मारने वालों ने घर वालों को धमकाया भी और वहां से फरार हो गए। घर वालों ने पुलिस को सूचित किआ पुलिस मौके पर पहुंची और उनके खिलाफ मकदा दर्ज करते हुए महिला को तुरंत इलाज के लिए ट्रामासेंटर भेज दिया। अब तक इस बारे कोई ठोस सूचना प्राप्त नहीं हो पाई है कि जिस महिला को गोली मारी गयी है उनकी स्थिति क्या है कैसी है बस इतना मालूम हो सका है कि वह ट्रॉमासेंटर में ज़ेरे इलाज है।

इस वारदात की कहा नी कुछ इस तरह है कुछ दिनों पहले एक नाबालिग लड़की के साथ शाहीन के कुछ बिल्डर्स ने बलात्कार किया था, लड़की के पेट में गर्भ टहर गया, उसके बारे में जब माता पिता को पता चला तो उन लोगों ने स्थानीय लोगों के सहारे थाने शिकायत दर्ज कराया। शिकायत तो ले ली गई लेकिन इस पर कई दिनों तक एफआईआर दर्ज नहीं किया गया बाद में जब क्षेत्रीय लोगों ने फिर दबाव डाला तब एफआईआर दर्ज हुई।

इस बारे में शाहीन बाग के रहने वाले मक़सूद आलम ने बताया कि क्षेत्र में कानून व्यवस्था बुरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है,यहाँ शरीफों की सुरक्षा समस्या जटिल होता जा रहा है, गुंडे खुले आम अपराध करहे लेकिन यहां की पुलिस सोई हुई है उन्होंने कहा दैनिक छोटे बड़े ऐसे अपराध अंजाम दिए जा रहे हैं जिस से क्षेत्रीय लोगों में दहशत फैल रही है लेकिन मौजूदा एसएचओ किसी और काम में मगन हैं। इन से जब यह पता किया गया कि आप यह कैसे कह सकते हैं कि यह वही लोग हैं जिन्होंने लड़की का बलात्कार किया जिन्होंने गोलियां मारी हैं तो उन्होंने जवाब दिया कि इस बारे में मुहम्मद अंसार ने हमें बताया और वह मौके वारदात पर मौजूद थे।

आलम ने थानेदार पर आरोप लगाया कि उनसे हम लोगों ने क़ानूनी व्वस्था बिगड़ने की स्थिति को लेकर कई बार मुलाकात की और हर बैठक में हमें विश्वास भी दिलाया कि आगे सब बेहतर होगा और आपराधिक तत्वों पर शिकंजा मज़बूत किया जाएगा, लेकिन उनके आश्वासन के बाद भी अपराध अधिक बढ़ता जा रहा है जिससे हम लोगों अपने आप को असुरक्षित समझने लगे हैं।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *