बीएसएफ,सीआरपीएफ के बाद अब सेना के जवान ने उठवाई आवाज़ अधिकारियों पर शोषण का लगाया गम्भीर आरोप

नई दिल्ली ( एस.बी.डेस्क ) बीएसएफ और सीआरपीएफ के जवान के बाद अब सेना के एक जवान ने भी शोषण के खिलाफ आवाज उठाई है। सेना के जवान यज्ञ प्रताप ने सैन्य अधिकारियों पर शोषण का आरोप लगाया है। लांस नायक यज्ञ प्रताप का कहना है कि प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से शिकायत करने के बाद उसे हिंसा का निशाना बनाया जा रहा है।

लांस नायक यज्ञ प्रताप के अनुसार सेना में 15 साल से काम कर रहा हूँ, अधिकारियों द्वारा कैसे जवानों का शोषण किया जाता है, मैंने देखा है। लेकिन कभी हिम्मत नहीं कर सका, क्योंकि सभी अधिकार अधिकारियों के हाथ में होती है। अगर मैं कुछ करता हूँ, तो मेरे खिलाफ अधिकारी कार्रवाई कर सकते हैं।

यज्ञ प्रताप के अनुसार सेना में अधिकारी उनके द्वारा जवानों का शोषण किया जाता है, जैसे घर का काम, अधिकारियों के जूते पॉलिश करना, मैम साहब के साथ रसोई का काम करना, अधिकारियों के बच्चे को स्कूल छोड़कर आना, जैसे कई काम जवानों को करने पड़ते हैं, जो एक जवान को कभी अच्छे नहीं लगते हैं, लेकिन मजबूरी में करने पड़ते हैं।
प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मानवाधिकार आयोग को भी इस बाबत पत्र लिखा, लेकिन कहीं से कोई जवाब नहीं मिला। मुझे मानवाधिकार आयोग से जवाब आया कि यह रक्षा का मामला है, इसमें हम कुछ नहीं कर सकते।

अर्धसैनिक बलों के जवानों के साथ अच्छा व्यवहार न होने की एक और खबर सामने आने के बीच सरकार ने कहा कि वह ऐसे सभी घटनाओं को गंभीरता से ले रही है। सेल और उन्हें खाने को लेकर स्थिति में सुधार के लिए सुधारात्मक कदम उठाए जा रहे हैं। केंद्रीय गृह मंत्री किरण रजयजू ने कहा कि बहुत सी बातें प्रकाश में आई हैं और हम उन्हें गंभीरता से ले रहे हैं, हम यह सुनिश्चित करेंगे कि भविष्य में इस तरह की घटनाओं पेश न आएं

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *