अगर सर्दियों में खजूर खाएंगे तो मिलेंगे शरीर को 8 फायदे, रहेंगे बिमारियों से सुरक्षित

( विशेष ) हालांकि लोगों में यह धारणा फैला है कि हर मीठा स्वाद रखने वाली हर पदार्थ अस्वस्थ है। हालांकि ग्लूकोज से भरपूर एक सुख फल ऐसा भी है जो स्वास्थ्य के लिए अत्यंत उपयोगी है। हाँ, यह खजूर है।

खोजूर के अंदर स्वास्थ्य के लिए कई ऐसे फायदे हैं जो विशेष रूप से सर्दियों में इसे खाने से मनुष्य को कई बीमारियों से सुरक्षित रखते हैं।
आप सर्दियों में स्वास्थ्य के बारे में विभिन्न मुद्दों जैसे नज़ला, ठंढ, गठिया, एलर्जी और फ्लू का शिकार रहते हैं तो जरूर खोजूर का उपयोग करना चाहिए।
स्वास्थ्य मामलों से संबंधित वेबसाइट “बोल्ड स्काई” पर खजूर के आठ ऐसे लाभ प्रदान किए गए हैं जिन्हें जानकर आप सर्दियों में खजूर खाने पर मजबूर हो जाएंगे:

1 – शरीर में गर्माहट
खजूर को फाइबर, इस्पात, कैल्शियम, विटामिन और मीगनीशेयम का अच्छा स्रोत माना जाता है और यह सब तत्वों सर्दियों में मानव शरीर को गर्म रखने में मदद करते हैं।
2 – ठंढ के प्रभाव से नज़ले का असर
आप ठंड के प्रभाव से नज़ले पीड़ित हैं तो आप दो से तीन खजूर, दो चम्मच छोटी इलायची और कुछ टुकड़े लाल मिर्च को लेकर गर्म पानी में डालकर कुछ देर उबाल लें और फिर छानकर सोने से पहले उसे पेय पदार्थ के रूप में प्रयोग करें।

3 – दमे का इलाज
खजूर के माध्यम नाली और सांस से संबंधित अन्य ठोस का भी इलाज संभव है जिन की गिनती सर्दियों के मौसम में सामान्य आम समस्याओं में होता है। इस उद्देश्य के लिए रोजाना सुबह और शाम खजूर के एक या दो दाने प्रतिबंध से खन्ना चाहिए।

4 – शरीर को ताकत देना
खजूर में मौजूद प्राकृतिक शकर मानव शरीर को त्वरित ऊर्जा देने में सहायक करता है।
5 – कब्ज का इलाज
चूंकि खजूर फाइबर से भरपूर होती है तो उसे रात भर पानी में भिगो कर सुबह को Blender में पीस लें और निहार मुंह पी लें। यह प्रक्रिया कब्ज के इलाज में बहुत उपयोगी साबित होगा।
6 – दिल के स्वास्थ्य की सुरक्षा
फाइबर से भरपूर होने के मद्देनजर खजूर दिल के स्वास्थ्य की रक्षा करता है।दिल की धड़कन की गति मध्यम और नियंत्रण में रखता है। इसके अलावा दिल के दौरे के जोखिम से भी बचाती है।
7 – गठिया में कमी
खजूर मनुष्य के जोड़ों के दर्द और सूजन की तकलीफ को कम करती है विशेषकर सर्दियों के मौसम में जब यह समस्या बहुत फैला होता है।
8 – उच्च रक्तचाप को कम करना
खजूर में मौजूद मीगनीशेयम और पोटाशेयम उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए प्राकृतिक कारक हैं। इसलिये रोज़ाना 5 से 6 खजूरें खाने के निदेश किये जाते है।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *