जामिया मिल्लिया इस्लामिया की मुस्लिम लड़की रौशनी हिजाब पेहन बाइक राइडिंग में मचती है धूम,तस्वीर हो रहा है वायरल

नई दिल्ली ( एस.बी.डेस्क ) इन दिनों जामिया मिलिया इस्लामिया में पढ़ने वाली हिजाब पहने एक लड़की की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. गाजियाबाद से जामिया तक सड़कों पर काफी तेज रफ्तार में स्पोर्ट्स बाइक दौड़ाने वाली इस लड़की का नाम रोशनी मिसबाह है. रोशनी मिसबाह जामिया के इंडिया अरब कल्चर सेंटर में पढ़ती हैं.

दरअसल अमूमन यह भ्रांतियां फैलाई जाती हैं कि मुस्लिम लड़किया बाइक नहीं चलातीं या फिर उन्हें इसकी इजाज़त नहीं होती. लेकिन ब्लैक लेदर जैकेट-जीन्स और हाई हील बूट पहनने वाली यह हिजाबी गर्ल इन सारे गलतफहमियों को दूर कर रही हैं. जामिया में ही मास कम्यूनिकेशन करने वाली चुकीं रोशनी ने पहली बार नौवीं क्लास में पढ़ने के दौरान ही बाइक चलाना सिख लिया था.

इस बारे में रौशनी बताती हैं, “बस मैं इतना जानती थी कि मुझे बाइक चलानी है. कब और कैसे चलानी है, इस बारे में कुछ नहीं पता था. जब पहली बार बाइक पर बैठी तो उसकी फीलिंग बहुत अलग थी. कोशिश की चलाने की. पहली बार बाइक की सीट पर बैठना काफी रोमांचक लगा. मेरी तमन्ना है कि मैं एक दिन अपनी बाइक से दुनिया की सैर पर निकलूं.”

रोशनी ने आगे बताया, “जब मैंने जामिया में एडमिशन लिया तो पापा से बोला कि मुझे कॉलेज जाने के लिए बाइक चाहिए. पापा राज़ी हो गए और मेरे लिए उन्होंने एवेंजर बाइक खरीद ख़रीद लाई. हालांकि, जब मॉम को पता चला तो उन्होंने कहा कि लड़की है, दिल्ली का ट्रैफिक बहुत खराब है. गाड़ी ले लो, बाइक रहने दो. लेकिन पापा ने पूरा सपोर्ट.”

रोशनी बताती हैं कि उन्होंने अपनी पहली एवेंजर बाईक को पांच ही महीने चलाने के बाद बेच दी और उसकी जगह अपनी पसंद की स्पोर्ट्स बाइक ले ली.

रौशनी के पास अब नारंगी-लाल और काले रंग की 250 सीसी होंडा सीबीआर रिपसॉल है जिसकी कीमत दो लाख के करीब है. हालाँकि रौशनी की पसंदीदा बाइक डुकाटी है.

रोशनी बताती हैं कि वो विंडचेजर्स और दिल्ली रॉयल इनफील्ड राइडर्स क्लब की मेंबर भी हैं. पहली बार एवेंजर बाइक लेने के बाद उन्होंने बजाज एवेंजर्स क्लब में हिस्सा भी लिया था. दिल्ली के बाइकरनी ग्रुप की रौशनी सबसे कम उम्र की बाइकर हैं.

रोशनी कहती हैं कि वैसे तो समाज, दोस्तों और परिवार से मुझे खूब सपोर्ट किया, लेकिन कुछ लोगों ने आपात्ति भी की. उन्हें लगता था कि बाइक चलाने वाली लड़की से कोई लड़का शादी नहीं करेगा.

लेकिन मेरे पापा ने किसी की एक न सुनी. उन्होंने कहा कि कोई बात नहीं, हम इसके लिए कोई सुपर बाइकर ढूंढ देंगे. पापा की ये बात यादकर मुझे आज भी हिम्मत मिलती है. उन्होंने बताया कि रोशनी ने बताया कि उनकी दो छोटी बहनें भी बाइक चलाना सीख रही हैं.
रोशनी का कहना है कि वो कोई सेलिब्रिटी नहीं बनना चाहती, लेकिन हां इतना जरूर चाहती हूं कि जिस तरह मैंने अपने पैशन को खत्म नहीं होने दिया, वैसे ही आप सब भी अपनी पोटेंशियल और पैशन को पहचाने. अपने पैशन को प्रतिभा दबाएं नहीं, उसे खुलकर जिएं.

रोशनी बताती हैं कि परिवार वालों के साथ-साथ मेरे दोस्तों और टीचर्स ने भी मेरा काफी सपोर्ट किया है. मुझे खुशी है कि मैं लोगों की मानसिकता बदलने में अपना रोल निभा रही हूं : सौ. सियासत

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *