ओखला के मुसलमानों को क़ब्रिस्तान दिया, क्या अब भी मुझे पार्षद प्रत्याशियों के लिए अपील करनी पड़ेगी : अखिलेश यादव

नई दिल्ली ( एसबी टीम ) दिल्ली नगर निगम चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी से लेकर केजरीवाल और दूसरे अन्य पार्टी के मुखिया अपने प्रत्याशियों के लिए दिल्ली में घूम घूम कर सभाऐं कर वोट मांग रहे हैं।

सुत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ओखला के कुछ लोग पार्टी के प्रत्याशियों के प्रचार करने और अबुल फजल जाकिर नगर के वासियों से वोट देने की अपील करने के लिए समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव से मिले तो उन्होंने कहा” क्या मुझे अब भी अपने प्रत्याशियों के लिए ओखला के मुसलमान भाइयों से वोट देने की अपील करने की जरूरत पडेगी।

मेरी सरकार कब्रिस्तान के मुद्दे पर गिरी है भाजपा ने मुझपर और मेरे नेताओं पर आरोप ही यही लगाया कि मैं मुसलमानों का हितैशी हूं। मैने उत्तर प्रदेश के मुसलमानों के कब्रिस्तान की बाउंडरी कराई ताकि जमीन माफिया उस पर कब्जा ना कर सकें जहां कब्रिस्तान नहीं था वहाँ जमीन दी ताकि मुसलमान भाइयों को दो गज जमीन के लिए तकलीफ ना हो।

ऐसा नहीं है मैंने सिर्फ मुसलमानों की समस्यों का समाधान किया मैंने अपने हिंदू भाइयों के शमसान की मरम्मत कराई जहां जमीन की अवश्यक्ता थी वहाँ जमीन दी मगर भाजपा ने इस मुद्दे के द्वारा मुझ पर मूस्लिम हितैशी होने का आरोप लगाकर हिंदू भाइयों के दिलों में नफरत फैलाकर झूठ बोलकर सत्ता में पहुंच गई। लेकिन मैंने कभी नफरत की राजनीति नहीं की ना करूंगा अगर हमारे मुस्लिम भाई को किसी प्रकार की समस्या थी तो उसका समाधान करना मेरा फर्ज था। इसी तरह हिंदू भाइयों के समस्याओं का समाधान करना मेरा फर्ज था।

और मैंने मुख्यमंत्री रहते हुए हर धर्म समुदाय के लोगों के लिए काम किया मेरा मानना है कि भारत के निवासी भारतीय हैं। मेरा विश्वास गंगा यमुना की संस्कृति में है। मैं नफरत फैलाकर समाज को बांट कर राजनीति करने का विरोधी हूं।

आरएसएस और भाजपा ने भले ही कुछ हिंदू भाइयों को झांसा देकर अपने पाले में कर लिया हो मगर मुझ जैसे मेरे सच्चे सनातनी हिंदू भाइ कभी यह नहीं चाहेंगे कि मुसलमान भाइयों को यहां भारत में कोई परेशानी हो हम मुसलमान भाइयों के तरक्की के बिना सुपर पावर भारत का सपना नहीं देख सकते।

जो लोग अब मुसलमान भाइयों को सत्ता में आने के बाद उनका कारोबार छीन रहे हैं वह कभी भारत को सुपर पावर नहीं बना सकते उनके मन में खोट है वह कभी कामयाब नहीं हो सकते।

अंत में उन्होंने कहा ओखला की जनता को कब्रिस्तान की जमीन देकर मैंने कोई एहसान नहीं किया है बल्की यूपी का मुख्यमंत्री होने के नाते जब यूपी के ही कुछ लोग और मौलाना लोग मुझसे मिले और मुझे बताया कि दिल्ली में ओखला अबुल फजल में उत्तर प्रदेश और बिहार बंगाल के मुसलमानों की बहुत बडी आबादी रहती है यहां कब्रिस्तान ना होने के कारण यहाँ के मुसलमान भाइयों को बहुत कठिनाई होती है जब्कि यहां शमसान है पर कब्रिस्तान नहीं है।

उस पर मैंने ओखला उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के अधिकारियों से बात की और कब्रिस्तान की जमीन दी गई। अबुल फजल ओखला यह क्षेत्र दिल्ली में आता है मुझे बताया गया कि यहां तमाम पार्टियों के नेताओं एंव वर्तमान आप विधायक ने यहाँ की जनता से कब्रिस्तान की जमीन के लिए खाली पडी डीडीए की जमीन दिलाने का वादा किया था। पर सत्ता में आने के बाद सबने उस जमीन पर कब्जा कर लिया है। अंत में उन्होंने कहा मुझे ओखला की जनता पर पूरा विश्वास है कि वह मुझे निराश नहीं करेंगे और झूठे वादे करने वालों कब्रिस्तान जैसी जगह पर कब्जा करने वालों को जरूर सबक सिखाएंगे”

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *