पार्टी से निलंबन के बाद सिसोदिया पहुंचे विधायक के घर, जाँच समिति में फंस सकते हैं अमानत

नई दिल्ली ( एस.बी.टीम ) आम आदमी पार्टी की पीएसी बैठक के बाद ओखला से विधायक अमानत ख़ान को आज पार्टी से निलंबित कर दिया और एक जाँच समिति बनाई गई जो इस बात की जाँच करेगी कि अमानत ने कुमार विश्वास पर जो आरोप लागए हैं वह सच हैं या फिर झूट।

जाँच समिति तीन लोगों की बनाई गई है जिस में पंकज गुप्ता , आशुतोष और अरतुषि मार्लिना शमिल हैं। समिति को जाँच की रपोट दो माह के अंदर देनी है। जाँच के दौरान अमानत को पेश भी होना है और जो आरोप लगाए हैं उनके सबूत भी पेश करने हैं अगर जाँच में अमानत सबूत पेश नहीं कर पाते हैं तो उन्हें पार्टी बहार का रास्ता दिखाएगी।

आप को बता दें की निलंबन के कुछ घंटों बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया उनके घर पहुंचे और काफ़ी देर तक दोनों लोगों में बातें हुईं। क्या बातें हुईं अमानत ने उसको अस्पष्ट नहीं किया हाँ यह बताया जा रहा है कि डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने अमानत को पूरी तरह से भरोसा दिलाया कि उनके साथ अन्याय नहीं होने दूंगा।

इस मामले पर जब सदा ए भारत ने ओखला विधायक अमानत ख़ान से बात की कि मनीष सिसोदिया की आप से क्या बात हुई तो उन्होंने बताया कि वह मेरे घर मिलने आए थे जिस तरह से वे आते रहे हैं।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले अमानत ख़ान ने दिल्ली एमसीडी चुनाव के फौरन बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास पर भाजपा और आरएसएस का एजेंट होने और पार्टी को तोड़ने का आरोप लगाया था जिस पर पार्टी में कई दिनों तक घमासान चिली और पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में कुमार विश्वास के निवास पर पीएसी मिंबरों के साथ घंटों मेटिंग चली जिसमें अमानत को पार्टी से निलंबित कर दिया गया और एक समिति बनाई गई जो यह जांच करेगी कि अमानत का आरोप सही था या गलत। इसके अलावा मीटिंग में कुमार विश्वास को राजिस्थान का परभारी बनाया गया।

अमानत ख़ान ने एक सवाल के जवाब में बताया कि जो समिति बनाई गई है अगर उसने पूछताछ के लिए बलाया तो जाऊंगा और नहीं बुलाया तो नहीं जाऊंगा उन्हों ने यह भी कहा कि पार्टी को बचाने के लिए मैं ने यह कदम उठाया था अब पार्टी ने मेरे लिए जो निर्णय लिया है वह स्वीकार है।

लेकिन यहां सवाल यह उठता है कि अगर अमानत जाँच समिति के परीक्षण में निरदोश पाए जाते हैं तो क्या कुमार विश्वास पर पार्टी कोई कार्यवाही करेगी ?

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *