जामिया मिलिया के डिप्लोमा इंजीनियरिंग एंट्रेंस में हज़रों की संख्या में छात्रों की भागीदारी

नई दिल्ली ( एस.बी.टीम ) जामिया मिलिया इस्लामिया में इन दिनों एंट्रेंस टेस्ट जारी हैं जिसमें सबसे महत्वपूर्ण इंजीनियरिंग विभाग है जिसका आज एंट्रेंस टेस्ट था। आज इस एंट्रेंस में कुछ चीजें विशेष नज़र आईं जो इससे पहले कभी नहीं देखने को मिली, जामिया डिप्लोमा इंजीनियरिंग के पूर्व छात्रों ने बाहर गेट पर हेल्पडेस्क लगा कर छत्रों और उनके गार्जियन को किसी भी तरह की परेशानी में मदद कर रहे थे यही नहीं बल्कि ये लोग एक रात टहरने और एक दिन भोजन की भी व्यवस्था किए हुए थे। जो व्यवस्था उनके द्वारा किए गए थे वे सीमित थीं क्योंकि उन्हें अलग से कोई मदद नहीं मिली और न ही जामिया ने उनकी इस सिलसिले में कोई मदद।

शारिक अख्तर जामिया ालोमनाई ने बताया की जामिया मिलिया इस्लामिया में हर साल एंट्रेंस टेस्ट के समय छात्रों और उनके अभिभावकों के साथ होने वाली परेशानियों को देखते हुए पहली बार जामिया के ही डिप्लोमा इंजीनियरिंग अलुम्नाई ने इस बार दूर राज्यों से आने वालों के लिए इंतजाम किया ताकि उनको कोई असुविधा न हो जिस में एक रात ठरना और खाना शामिल हैं। उन्हों ने बताया पचास बच्चों के आस पास इसका लाभ उठाया। जो लाभान्वित हुए उनके माता-पिता काफी खुश दिखे।
डॉक्टर एहतेशामुलहक़ असिस्टेंट एग्जाम कंट्रोलर ने बताया की जामिया मिलिया इस्लामिया जामिया मिलिया इस्लामिया में आज डिप्लोमा इंजीनियरिंग और 9th,11th कक्षा में प्रवेश के लिए एंट्रेंस टेस्ट हुए जिस में हज़ारों की संख्या में छात्रों ने भाग लिया। डिप्लोमा में छे हज़ार से अधिक छात्रों ने भाग लिया जबकि 9th और 11th में तीस हजार से अधिक छात्रों ने भाग लिया। यहां ने बताया की दली में दो केंद्र बनाए गए थे इसके अलावा देश के विभिन्न प्रांतों में भी एंट्रेंस सेंटर का प्रावधान किया गया था जिसमें लखनऊ, कालीकट,कोलकाता , गुवाहाटी आदि शामिल हैं। इस बार ऑफ़लाइन फार्म भरने की प्रणाली भी समाप्त कर दी गई थी ,जबकि पिछले साल ऑफ़लाइन और ऑनलाइन दोनों प्रणाली उपलब्ध थीं।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *