मोहसिन राजा को योगी सराकर में मंत्री बने अभी चंद दिन बीते की वक़फ की ज़मीनें बेचने का लगा आरोप

नई दिल्ली ( एस.बी.डेस्क ) उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री मोहसिन रजा पर समर्पित भूमि बेचने के आरोप लगाए गए हैं। आरोप है कि 2010 में पावर ऑफ अटार्नी अपनी मां ज़ाहदा बेगम के नाम करके जमीनें बेच रहे थे। यह जमीनें उन्नाव के सफ़ी जयपुर के मुख्य बाजार में हैं।

उल्लेखनीय बात यह है कि मोहसिन रजा सफ़ी जयपुर के ही रहने वाले हैं। सफ़ीपुर में समर्पित लगभग 505 गज भूमि तीन बार में बिक्री किए गए, जहां अब दुकानें हैं। आरोप के अनुसार 505 गज भूमि 27.12.2005, 9.08.2006 और 29.03.2011 को बेच गए हैं । जमीन की कीमत लगभग दो करोड़ से अधिक है।

एनडीटीवी खबर के अनुसार 1937 में आलिया बेगम ने यह भूमि समर्पित दान कर दी थीं। इसके बाद से मोहसिन रजा का परिवार इस समर्पित भूमि की निगरानी कर रहा था। यह पूरा मामला ही गांव के रहने वाले मसरूर हसन द्वारा वक्फ बोर्ड में शिकायत करने के बाद यह पूरा मामला सामने आया है।

वक्फ बोर्ड की ओर से यह परीक्षण किया गया, जिसमें उन्हें और उनके परिवार को दोषी पाया गया है। उन्हें बोर्ड के सामने अपना पक्ष रखने के लिए १३.०१.१६ को नोटिस दिया गया। छह सप्ताह में जवाब देना था, लेकिन न कोई आया और न ही उनके द्वारा कोई जवाब भेजा गया। जिसके बाद उनके दो चाचा ने अपने जवाब में बताया कि यह समर्पित जमीनें नहीं हैं, तो उन पर कोई कार्रवाई न की जाए।

बोर्ड उनके जवाब से संतुष्ट नहीं हुआ, क्योंकि रिकॉर्ड में यह संख्या 2424 समर्पित नाम पर दर्ज हैं। इसके बाद समर्पित ने 13/04/17 अनुभाग 52 (1) (2) (3) के तहत उन्नाव कलेक्टर को पत्र भेजा कि बेची गई संपत्ति पर समर्पित कब्जा बहाल करवाया जाए और 52 (क) के तहत सभी दोषी व्यक्तियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करें।

अपने बचाव में मोहसिन रजा ने एनडीटीवी को कुछ दस्तावेज दिए हैं। हालांकि यह दस्तावेज वही हैं, जो मोहसिन के मामा ने वक्फ बोर्ड के नोटिस के जवाब में भेजे थे, जिसमें उन्होंने कहा था कि जो भूमि बिक गए हैं वे आबादी नंबर 2424 है, जो कि समर्पित नहीं हैं, बल्कि जो 2424 समर्पित है, वहाँ आज भी मकान है जो नहीं बेचा गया है।

आरटीआई के जरिए नगर पालिका से प्राप्त की गई जानकारी के अनुसार मकान सड़क वाला नंबर 2424 नगर पंचायत सफ़ी जयपुर के तहत स्थित नहीं है और न ही उसके होने का कोई रिकॉर्ड मौजूद है। बल्कि सरकारी दस्तावेजों में आबादी नंबर 2424 समर्पित है। उसके आधार पर ही वक्फ बोर्ड ने कार्रवाई की है।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *