भारत में ख़तरनाक़ जीका वायरस की एंट्री, WHO ने की पुष्टि

दुनिया में तबाही मचाने के बाद अब भारत में जीका वायरस प्रवेश कर चुका है। इस बात का खुलासा विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने किया। WHO ने अहमदाबाद में तीनों मामलों की पुष्टि की है। सभी मामले शहर के बापूनगर इलाके के बताए जा रहे हैं।

WHO की साइट के मुताबिक देश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गुजरात में अहमदाबाद के बापूनगर इलाके में जीका वायरस के तीन मामले पाए हैं। अहमदाबाद के बीजे मेडिकल कॉलेज में आरटी-पीसीआर टेस्ट के माध्यम से जीका वायरस के मामलों की पुष्टि की गई है। इससे पहले जनवरी में पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वीरोलॉजी की लैब में आरटी-पीसीआर टेस्ट में इसकी पुष्टि हुई थी।

ख़बरों के मुताबिक अहमदाबाद नगर निगम में एंटोमोलाजिस्ट डा विजय कोहली ने बताया कि उन्होंने भी कुछ घंटों पहले ही रिपोर्ट पढ़ी है और फिलहाल उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि मामले से निपटने के लिए एहतियात बरतना होगा। मच्छरों को जड़ से मिटाने के लिए काम करना होगा।

गांधीनगर में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक हेल्थ (आईआआईपीएफ) में एडिश्नल प्रोफेसर डा. दीपक बी सक्सेना ने बताया कि हमें अब और भी सर्तक रहना होगा।
संगठन की साइट यह भी बताती है कि जीका वायरस ने निपटने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के सचिव की अध्यक्षता में एक टास्क फोर्स भी गठित की गई है। इसमें उनके साथ बायोटेक्नोलॉजी विभाग के सचिव और स्वास्थ्य शोध विभाग के सचिव भी होंगे। यह जीका के बढ़ते मामलों पर निगाह रखेंगे।

हालांकि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री शंकर चौधरी और स्वास्थ्य अधिकारी से जब इस बारे में बात करने की कोशिश की गई तो जवाब नहीं मिला है ।

जीका से निपटने के लिए डब्ल्यूएचओ ने सलाह देते हुए बताया है कि लोगों को इससे बचाव की आवश्यकता है। इसके लिए मच्छरों को पनपने नहीं देना चाहिए। हल्के रंग के और ढंके हुए कपड़े पहनें। घर के दरवाजे और खिड़कियां बंद रखें, जिससे मच्छर घर में न घुस पाएं। मॉस्कीटो रेपेलेंट का इस्तेमाल करें। सौ: सिआसत

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *