इस्लाम की अज़मत औरतों की अज़मत से है,औरत समाज की बुनियाद है

नई दिल्ली ( एस.बी.टीम ) तीसरी तरावीह बाद ओखला के शाहीन बाग़ जामिया नगर मस्जिद अल-हबीब 40 फुटा रोड़ में वॉलंटीयर्स ऑफ चेंज की ‘डिग्नीटी ऑफ वीमन मुहिम’ का तीसरा प्रोग्राम आयोजित किया गया । इसमें कई लोगों ने हिस्सा लिया।

प्रोग्राम की शुरुआत जनाब मुनव्वर नदवी की तिलावत से हुई। इसके बाद मुहिम के निगरां जनाब शाहिद रज़ा ने मुहिम के मक़सद पर रोशनी डाली।

उम्मे सलमा गर्ल्स स्कूल के डाइरेक्टर जनाब शमसुद्दीन ने अपने इज़हारे ख़याल में कहा कि औरत समाज की बुनियाद है। अगर कोई उसकी अज़मत को नुक़सान पहुंचाता है तो वो समाज की बुनियाद को ही कमज़ोर करता है।

सब्रा के जनरल सेक्रेटरी जनाब साजिद अनस ने अपने ख़िताब में इलाक़े के कुछ नवजवानों की नाजेबा हरकतों का ज़िक्र करते हुए कहा कि ओखला जैसा अच्छे लोगों का इलाक़ा अब ग़लत कामों के लिए बदनाम हो रहा है और हालात की इस्लाह के लिए लोगों को क़दम उठने होंगे।

वॉलंटीयर्स ऑफ चेंज के कन्वीनर अब्दुल रशीद अगवान ने ओखला के नवजवानों में बढ़ते तीन रुझानों के बारे में बताया कि तेज़ मोटरसाइकल चलाना, नशे की आदत और लड़कियों के साथ छेड़छाड़ की बीमारियां परवान चढ़ रही हैं और इसके लिए नवजवानों की रहनुमाई और काउंसलिंग ज़रूरी है। उनका यह भी कहना था कि रमज़ान के पाक महीने में नाज़िल क़ुरआन का सबसे बड़ा पैग़ाम यही है कि हम भलाइयों को फरोग़ दें और बुराइयों को रोकने की कोशिश करें। प्रोग्राम के आख़िर में जनाब वकील जौहरी ने हाज़रीन का शुक्रिया अदा किया।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *