मोदी के गुजरात में हज़रात ईसा मसीह को एक किताब में बताया गया हैवान

अहमदाबाद ( एस.बी.डेस्क ) गुजरात शिक्षा बोर्ड एक बार फिर सुर्खियों में है और बोर्ड की बड़ी लापरवाही सामने आई है। कक्षा नौ की हिंदी की किताब में ईसा मसीह को हैवान बताया गया है। इसमें कहा गया है कि इस जानवर की कहानी हमेशा याद रखा जाएगा। लेकिन जब इस मामले में गुजरात की किरकिरी होनी शुरू हुई तो राज्य के शिक्षा मंत्री और पाठ पुस्तक बोर्ड के अध्यक्ष ने इसमें जल्द सुधार करने की बात कही है। अधिकारियों का कहना है कि गलत टाइपिंग की वजह से यह गलती हुई है।

कक्षा नौ की हिंदी पुस्तक के अध्याय 16 में यह गलती सामने आई है। इस अध्याय का शीर्षक है, ‘भारतीय संस्कृति में शिक्षक – शिष्य संबंध’। इसी सिलसिले में पेज नंबर 70 पर मसीह के बारे में लिखा है कि इस संबंध में हैवान ईसा के बयान हमेशा याद रखा जाएगा।

एडवोकेट सुब्रमण्यम अय्यर ने इस गलती की ओर ध्यान दिलाया। उनका कहना है कि यह गलती आईपीसी की धारा 295 (ए) के तहत आता है, जो किसी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के संबंध में है।
वकील अय्यर ने बताया कि यहाँ छात्रों के सामने नकारात्मक शक्ति के रूप में दिखाया गया है। निश्चित रूप से यह लोगों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला मामला है। अय्यर ने कहा कि बेशक यह गलती जानबूझ कर नहीं किया गया लेकिन इससे दो समुदायों के बीच तनाव तो पैदा हो सकती है। कानून-व्यवस्था की समस्या भी उत्पन्न हो सकता है।

गौरतलब है कि यह पहला मौका नहीं है जब गुजरात की पाठ्यपुस्तकों में गलतियां सामने आई हैं। पहले भी एक पाठ्यपुस्तक में दावा किया गया था कि द्तीय विश्व युद्ध में जापान ने अमेरिका पर परमाणु बम गिराया था। इसी तरह एक और पाठ्यपुस्तक में महात्मा गांधी की वर्षगांठ की तारीख गलत दी गई थी।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *