पहले AMU अब JMI का अल्पसंख्यक दर्जा खतम करने की फ़िराक में है भगवा सरकर

नई दिल्ली ( एस.बी.टीम ) भगवा मोदी सरकार पहले अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का माइनॉरिटी स्टेटस खतम करने की ताक में लगी हुइ थी जिसका मामिला अभी भी कोर्ट में चल रहा है अब इसी बीच यही खबर भी आगयी है की जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय का माईनोर्टी स्टेटस खतम करने का मंसूबा बना चुकी है और जल्द ही कोर्ट में वह हलफनामा भी दायर करेगी की देश की प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी जामिया मिलिया इस्लामिया अल्पसंख्यक संस्थान नहीं है

जामिया पर रिट याचिकाओं की सुनवाई के दौरान मोदी सरकार कोर्ट में हलफनामा देगी कि जामिया मिलिया इस्लामिया एक नहीं है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय दिल्ली उच्च न्यायालय के पास लंबित याचिकाओं में एक नया हलफनामा दर्ज करेगा। सरकार का मानना है कि 22 फरवरी, 2011 को जेएमआई को एक धार्मिक अल्पसंख्यक संस्थान घोषित कानूनी समझ में एक गलती थी।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *