ऑल इंडिया वुमेन यूनाइटेड पार्टी ने पावरलिफ्टर महिला विजेता खिलाड़ियों को सम्मानित किया

नई दिल्ली ( एस.बी.टीम ) दिल्ली के नेशनल स्पोर्टस कॉम्पलेक्स में ऑल इंडिया वुमेन यूनाइडेट पार्टी द्वारा साउथ अफ्रीका में आयोजित कॉमनवेल्थ चैम्पियनशिप में पावरलिफ्टिंग के विजेता खिलाड़ियों को सम्मानित किया गया। सम्मानित खिलाड़ियों में जिनी गोगिया चुग, इति अरोरा सहगल, नीरज चावला, हुदाबिया खान और प्रवीण शर्मा हैं। इस अवसर पर उन सभी विजेताओं को मोमेंटम देकर सम्मानित किया गया। जिम के कोच और पावरलिफ्टर विजेता नीरज चावला को शॉल और मोमेंटम देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर ऑल इंडिया वुमेन यूनाइटेड पार्टी के अध्यक्ष नसीम बानो खान, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एडवोकेट मीना, राष्ट्रीय महासचिव लक्ष्मी कृष्णन, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट अभिलाषा सी बत्रा, उपाध्यक्ष दिल्ली एनसीआर सुजाता सिंह के अलावा कई गणमान्य हस्तियां मौजूद रहीं। इस सम्मान समारोह के सम्पूर्ण आयोजन में एशियन पत्रिका के संरक्षक और समाजसेवी रिजवान रजा का विशेष सहयोग रहा। समारोह को संबोधित करते हुए जिनी गोगिया चुग ने रिजवान रजा का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि आज हमें जो खुशी महसूस हो रही है उसे मैं शब्दों में बया नहीं कर सकती। रिजवान रजा से हमारी मुलाकात एक समारोह के दौरान हुई थी। बस छोटी सी मुलाकात आज एक भावनात्मक रिश्ते में बदल गई है और मैने उन्हें भाई का दर्जा दिया है। उन्होंने हमारी टीम का सम्मान करने लिए इस समारोह का आयोजन किया है उसके लिए मैं उन्हें दिल से आभार व्यक्त करती हूं। जिनी गोगिया चुग फिट इंडिया कैंपेन की ब्रांड एम्बेसडर हैं। इस कैंपेन का उद्देश्य लोगांें को फिट रहने के प्रति जागरूक करना है। उन्होंने अपने संबोधन में कहा है कि फिटनेस को लेकर लोगों में भ्रांतियां बनी रहती है।

आधुनिक और भागदौड़ भरी जीवनशैली से लोग बीमार हो रहे हैं। लोगों को मोटापा सहित कई बीमारियां जकड़ रही हैं। उन्होंने कहा कि फिट रहने के लिए सबसे जरूरी है डायट चार्ट और एक्सरसाइज। अगर आप इसे फॉलो करते हैं तो आप हमेशा फिट रहेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य राष्ट्रीय स्तर पर एक फिटनेस कैंपेन चलाने की है ताकि लोग अपनी सेहत के प्रति जागरूक रहें। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एशियन पत्रिका के संरक्षक रिजवान रजा ने कहा कि एक रिश्ता उपर वाला बनाता है ओर एक रिश्ता आपके व्यवहार और आपकी विचारधाराओं से बनती है। उन्होंने कहा कि कॉमनवेल्थ विजेता पावरलिफ्टर जिनी गोगिया चुग से मेरी मुलाकात एक समारोह के दौरान हुई थी। और आज हम गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं कि मुझे राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय विजेताओं को सम्मानित करने का अवसर प्राप्त हुआ।

जिनी गोगिया जी ने मुझे भाई का दर्जा दिया है तो मैं भी इस मंच से कहा रहा हूं कि मुझे भी अपनी बहन पर फख्र हैं और मैं उन्हें हरसंभव सहयोग करने के लिए तैयार रहूंगा। इस अवसर पर ऑल इंडिया वुमेन यूनाइडेट पार्टी की अध्यक्ष नसीम बानो खान ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि आज की बेटियां राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय फलक पर अपना नाम रौशन कर रही हैं। लेकिन क्रिकेट को छोड़कर सरकार का ध्यान किसी और खेल पर नहीं है। जबकि सरकार को सभी खेलों के प्रति एक समान नजरिया रखने की जरूरत है। आज की बेटियां, महिलाएं हर क्षेत्र में अपने आपको साबित कर रही हैं। जबकि सरकारी सहयोग के नाम पर उन्हें कुछ नहीं दिया जाता है। उन्होंने कहा कि आज इस मंच पर बैठीं राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय विजेताओं ने खुद को साबित किया और इन सभी ने बिना सरकारी सहयोग के भी बुलंदिया हासिल की है। आज की बेटियां अपने बलबूते अपना इतिहास बना रही हैं। सरकार वुमेन इंम्पावरमेंट की बात कब तक करती रहेगी। उन्हांेंने कहा कि हम इंम्पावर हो चुके हैं। हमें और सरकार बरगलाने की कोशिश नहीं करे।

उन्होंने कहा कि देश में अब तक की जितनी भी सरकारें आयी हैं महिलाओं के विकास के नाम पर, महिला अधिकारिता के नाम पर सिर्फ बरगलाने का काम किया है।

महिला सेल और महिला विंग बनाकर सरकारें औपचारिकता निभाते रही हैं। अब वक्त तेजी से बदल रहा है। अगर सरकार हमारे बारे में नहीं सोचती है तो यह लड़ाई हमें खुद लड़नी होगी। उन्होंने कहा कि अगर केन्द्र सरकार को महिला अधिकारिता की इतनी ही फिक्र है तो महिलाओं को संवैधानिक स्तर पर वह अधिकार दे दीजिए। संसद में महिलाओं की सीटें बढ़ा दीजिए। अगर आप फिर भी ऐसा नहीं कर सकते हैं तो हमारी कोशिश यह होनी चाहिए कि वहां पहुंचने का रास्ता हम खुद अख्तियार करें। ताकि इस सरकार को पता चल सके कि वुमेन इंपारवमेंट क्या चीज है। सरकार बेटी बचाओ-पढ़ाओ बेटी का नारा जपते रहती है। जबकि हकीकत सबके सामने है कि आज की बेटियों पर क्या गुजर रही है। अगर सरकार को बेटियों की वाकई चिंता है तों सरकार को अपना नजरिया बदलना पड़ेगा।

उन्होंने अपने संबोधन में कहा है कि हम केन्द्र की सरकार से यह मांग करते हैं कि महिला खिलाड़ियों को आर्थिक सहयोग प्रदान करने के लिए अलग व्यवस्था बनाई जाये। समारोह में अंत में फिट इंडिया कैंपन की ओर से वहां उपस्थिति सभी आगंतुकों को टीशर्ट वितरित किया गया

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *