उर्दू मीडियम स्कूल बंद मामिले पर ओखला विधायक और अल्पसंखयक आयोग आमने सामने

नई दिल्ली ( एस.बी.टीम ) दिल्ली अलसंख्यक आयोग और ओखला से आम आदमी पार्टी के विधायक दिल्ली छे में उर्दू मीडियम स्कूल को बंद किये जाने के मामिला को लेकर आमने सामने आचुके हैं।

दिल्ली अलसंख्यक आयोग के चेयरमैन डर.ज़फरुल इस्लाम ने दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री पर इलज़ाम भी लगाया है की वह उर्दू मीडियम स्कूलों को बंद करना चाहते है जो की उर्दू वालों के लिए न इनसफी की बात है की बात है उन्हों ने मुख्यामंत्री और उप मुख्यमंत्री को इस सिलसिले में लेटर भी लिखा है और उनसे गुज़ारिश की है की जो फैसला उर्दू स्कूलों के विपरीत लिया गया है वह वापस लिया जाये।

वही अब ओखला के विधायक अमानतुल्ला ने इस सिलसले में एक नया बयान जारी किया है जो यह दर्शाता है की दोनों लोग अब आमने सामने आचुके हैं क्यों की दोनों लोग आप सरकार के नुमाईन्दे हैं।

विधायक अमानत ने आज उर्दू मीडियम स्कूलों को लेकर मुख्यमंत्री और उपमुखयमंत्री से मुलाक़ात की है और उन्हों अपने जारी बयान ने में लिखा है जो इस प्रकार है

“आज अभी अभी मेरी मुलाकात दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल जी और dupty CM मनीष सिसोदिया जी से पुरानी दिल्ली के जिन 6 स्कूलों को बंद करने की बात मीडिया में चलरही थी उस सिलसिले में हुई । मुझसे CM साहब ने कहा ये बात बिल्कुल गलत है हमारा पुरानी दिल्ली के किसी भी स्कूल को बंद करने का कोई इरादा नही है जिस तरह से स्कूल चल रहे हैं उसी तरह अपनी जगह चलते रहेंगे। जिन स्कूल के अंदर उर्दू टीचर की कमी है उस के कमी को भी दूर किया जाए गा। Regards अमानतुल्लाह विधायक ओखला”

आप को बता दें की कुछ दिनों पहले उपमुख्यमंत्री ने दिल्ली के उन छे उर्दू मीडियम स्कूलों को लेकर एक बयान जारी किया था की इन स्कूलों को किस एक या दो के साथ ज़म कर दिया जायेगा। जिस पर पुराणी दिल्ली के मुसलामनों ने आपत्ति जताई थी। इसी बात को लेकर माइनॉरिटी कमीशन के चेयरमैन ज़फरुल इस्लाम खान ने भी लेटर लिख आपत्ति ज़ाहिर की थी और इस फैसले को वापस लेने का मुतालबा किया था।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *