रोहांग्या मुस्लिमों को लेकर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने कॉलेज से आंग सॉंग सूची का फोटो हटाया

लंदन ( एस.बी.डेस्क ) म्यांमार में रोहिंगिया संकट मामिले में आंग सँग सूकी की भूमिका की समीक्षा करने के बाद ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय ने अपने कॉलेज से उनकी एक फोटो को हटा दिया है। ऐसा माना जारहा है कि म्यांमार में तनाव के कारण, चार लाख मुस्लिम को भागना पड़ा और उन्होंने बांग्लादेश में शरण लेनी पड़ी।

संयुक्त राष्ट्र ने इस संकट को एक नरसंहार के तौर पर लिया है और इस संबंध में गंभीर आलोचना भी किया है
हालांकि, विश्वविद्यालय ने अभी तक छवि को हटाने का कारण साफ नहीं किया है। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, यूनिवर्सिटी के संचार प्रबंधक का कहना है कि यह छवि किसी अन्य स्थान पर रखी गई है। यह माना जा रहा है कि विश्वविद्यालय ने इस कदम ऐसे समय में उठाया है जब नया अकादमिक वर्ष कुछ दिनों में शुरू होने को है और छात्रों की अनजाना भी शुरू होगा।

ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी के सेंट ह्यूज कॉलेज में उनकी तस्वीर उतर दी गई है और उस जगह एक जापानी चित्र लगनी है। नै तस्वीर इसी महीने की शुरुआत में, कॉलेज को दिए गए थे और अब कॉलेज के मुख्य भवन में वह मौजूद है।

आंग संग सूची पहले ही एक ख्याली कैदी रह चुकी है, लेकिन 2015 के चुनावों के बाद से, उनकी पार्टी देश में विरजामन है। आंग सांग सूची नोबेल शांति विजेता ने कुछ दिनों पहले अपने भाषण के दौरान मानव अधिकारों के उल्लंघन की आलोचना की थी और देश की सेना पर लगे आरोपों का जवाब नहीं दिया

उल्लेखनीय है कि 1 9 67 में उन्होंने सीनेट ह्यूज कॉलेज से स्नातक किया, और जून 2012 में एक डिग्री से सम्मानित किया गया। विश्वविद्यालय का कहना है कि वे इस डिग्री को रद्द करने के बारे में नहीं सोच रहे हैं। 1886 में स्थापित सेंट ह्यूज कॉलेज, ऑक्सफोर्ड के सबसे पुराने कॉलेजों में से एक है, और लगभग 800 छात्र शिक्षा के अधीन हैं।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *