BJP और AAP पार्टी की मिलीभगत से हो रहा है गोरखधंधा

नई दिल्ली ( एस.बी.न्यूज़ ) नवगठित राजनीतिक पार्टी स्वराज इंडिया ने दिल्ली सरकार द्वारा शराब के लाइसेंस वितरण में बड़े घपले का पर्दाफ़ाश किया है। पार्टी के मुख्य राष्ट्रीय प्रवक्ता और दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनुपम ने दावा किया कि आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार द्वारा शराब कारोबारियों को शॉपिंग मॉल्स में दुकान चलाने के लिए अवैध लाईसेंस बांटे गए हैं।

दिल्ली सरकार द्वारा शॉपिंग मॉल में शराब बेचने के लिए L10 श्रेणी के लाइसेंस दिए जाते हैं। मॉल में खुलने वाली दुकानों के लिए सरकार के नियम परिभाषित हैं। किसी भी दुकान का दरवाज़ा सीधा बाहर की ओर नहीं खुल सकता लेकिन दिल्ली सरकार के साथ सांठगांठ से मॉल प्रबंधन ने अवैध नक्शों के अनुसार शराब की दुकानें निकाल ली। हर सप्ताह दिल्ली सरकार के आबकारी अधिकारी शराब के ठेकों का इंस्पेक्शन करते हैं लेकिन इस घालमेल और नियमों की धज्जियां उड़ने पर कोई रोक नहीं लगती।

नतीजा यह हुआ है कि अकेले दिल्ली के क्रॉस रिवर मॉल में ही लगभग एक दर्ज़न शराब की दुकानें सिर्फ़ ग्राउंड फ़्लोर पर हैं। शॉपिंग मॉल शराब की मंडी बन चुकी है और सूरजमल विहार जैसे नज़दीक के रिहायशी इलाकों में रहने वाले स्थानीय लोग त्रस्त हैं। आश्चर्य की बात है कि आंखों के सामने साफ़ तौर पर दिखने वाले इस घपले पर एमसीडी से लेकर दिल्ली पुलिस तक भी किसी का ध्यान नहीं जाता। क्या ये सीधा संकेत नहीं कि दिल्ली में धड़ल्ले से हो रहे शराब के इस अवैध कारोबार में हर स्तर पर गोरखधंधा है? पूरी दिल्ली जानती है कि जब भी कहीं किसी तरह का कोई निर्माण कार्य शुरू हो तो एमसीडी के कर्मचारी अधिकारी बड़ी तत्परता से अपना हिस्सा लेने पहुँच जाते हैं। लेकिन क्या दारू बेचने में सहूलियत के लिए जब इतने बड़े मॉल में अवैध निर्माण हुआ तो किसीको पता भी नहीं चला?

क्रॉस रिवर मॉल जिस क्षेत्र में है वहाँ के पार्षद, विधायक और सांसद सभी बीजेपी से हैं। ऐसे में आम आदमी पार्टी शाषित दिल्ली सरकार का उनके क्षेत्र में इस तरह अवैध लाइसेंस के घपले में लिप्त होना काफ़ी कुछ कहता है। क्या दिल्ली में शराब के नशे को बढ़ावा देने में इतना ज़्यादा पैसा है कि दिन रात आपस में लड़ने वाले बीजेपी और ‘आप’ में भी सांठगांठ हो गयी है? हर वक़्त आपसी आरोप प्रत्यारोप में लगे रहने वाली आम आदमी पार्टी और बीजेपी के बीच नशे के प्रसार में इतना सुंदर समन्वय कैसे बन गया? क्या इस धंधे के पीछे की काली कमाई के कारण कोई भी इस सवाल को नहीं उठाता?

इससे पहले दिल्ली सरकार ने लाइसेंस देने के नियमों में ढिलाई करते हुए किसी नई दुकान के लिए न्यूनतम कार्पेट एरिया को 1000 से घटाकर 500 वर्ग फ़ीट कर दिया था। और अब तो सीधे तौर पे नियमों का उल्लंघन करते हुए शॉपिंग मॉल में अवैध ठेके चलाये जा रहे हैं।
स्वराज इंडिया की महिला स्वराज मोर्चा ने रविवार को दिल्ली के क्रॉस रिवर मॉल पर प्रदर्शन करते हुए शॉपिंग मॉल में खुले लगभग एक दर्ज़न शराब की दुकानों को बंद कराने की मांग की। शाहदरा स्थित इस मॉल में अवैध लाइसेंस देकर भारी संख्या में शराब की दुकानें खोल दी गई हैं। शराब की मंडी में तब्दील हो चुके इस शॉपिंग मॉल के आस पास दिन रात शराबियों और हुड़दंगियों का जमावड़ा होना आम बात हो गयी है। छीना-झपटी और छेड़खानी से एक एक व्यक्ति परेशान है। नशे में अपराध करने वालों की संख्या में वृद्धि आ रही है।स्वराज इंडिया की महिला स्वराज मोर्चा की अध्यक्षा सर्वेश वर्मा ने अफ़सोस जताया कि नशामुक्त दिल्ली के वादे पर सत्ता में आये मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज दिल्ली के ‘बादल’ और मनीष सिसोदिया दिल्ली के मजीठिया बन गए हैं।

पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनुपम ने कहा कि देश की राजधानी दिल्ली को नशे के अंधकार में धकेलने की सरकार के नापाक इरादों को स्वराज इंडिया कभी भी पूरा नहीं होने देगी। पहले भी स्वराज इंडिया ने रिहायशी इलाकों में चल रहे ठेकों के ख़िलाफ़ जन-अभियान चलाया था जिसके बाद दिल्ली सरकार को मजबूर होकर नए लाइसेंस बांटने पर रोक लगाने की घोषणा करनी पड़ी थी। यदि सरकार इस गंभीर मामले की जाँच तुरंत करवा के अवैध धंधे पर रोक नहीं लगाती तो स्वराज इंडिया की महिला स्वराज मोर्चा दिल्ली के बेहतर भविष्य के लिए इसपर आंदोलन करेगी।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *