मौलाना आमिर रशादी ने कहा मैं बीजेपी में हो सकता हूँ शमिल ,मुस्लमान चाहे मुझे एजेंट ही कहें

अहमदाबाद ( एस.बी.न्यूज़ ) गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक पार्टियां की सरगर्मियां तेज़ होगई हैं। ऐसे में जहां भाजपा और कांग्रेस दोनों पर मुसलमानों के साथ भेदभाव बरतने का आरोप लगाया जा रहा है वहीं दूसरी ओर राष्ट्रीय उलेमा काउंसिल की ओर से एक प्रेस सम्मेलन का आयोजन कर कांग्रेस और भाजपा पर मुसलमानों को वोट बैंक के रूप का उपयोग करने का आरोप लगाया लगाया।

राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल के अध्यक्ष, रशादी ने कहा कि गुजरात में जनसंख्या का 10% होने के बावजूद मुसलमान की कोई नहीं सुन रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि गुजरात में दलित समुदाय की मांगों को लेकर कांग्रेस परेशान है और जिग्नेश मीवानी से मुलाकात कर रही है, लेकिन मुसलमानों के मुद्दे को हल करने के लिए किसी भी तरह की पहल नहीं कर रही है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए मोलना रशादी ने कहा कि यदि हमरे क़ौम की भलाई भाजपा से जुड़ने में है तो राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल भाजपा में शामिल होने के लिए तैयार है। ऐसे मामले में, अगर कोई मुझे भाजपा एजेंट बताता है, तो मुझे परवाह नहीं है।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *