जामिया में इंटर-फैकल्टी टूर्नामेंट का आगाज़, छात्रों में दिखा उत्साह

नई दिल्ली ( एस.बी. टीम ) यह एक लंबे समय से चले आ रहे विचार-विमर्श का ही नतीजा है कि मौजूदा दौर की शिक्षा व्यवस्था में विद्यार्थियों के विकास में खेल को भी उतना ही महत्व दिया जाने लगा है, जितना की पढ़ाई-लिखाई को देते आए हैं। इसी तरह इन दिनों राजधानी दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया में जहाँ एक ओर उसके तमाम डिपार्टमेंट आने वाले दिनों के लिए फैस्ट आयोजन की तैयारियों में जुटे है, तो इसके दूसरी तरफ विश्वविद्यालय में आज से इंटर-फैकल्टी टूर्नामेंट की शुरुआत की गई।

 

यह टूर्नामेंट जामिया के नवाब मंसूर अली खाँ पटौदी स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में आयोजित किया जा रहा है जिसमें यहाँ की लगभग हर फैकल्टी के छात्र हिस्सा ले रहें हैं। छात्रों के उत्साह का इस बात से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स का नोटिस आने के घंटों बाद से ही अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन करवानी शुरु कर दी थी। आधिकारिक सूचना के अनुसार, इस साल रिकॉर्ड आवेदनों में सबसे ज़्यादा फैकल्टी ऑफ़ ह्युमॅनिटी एंड लैंग्वेजेज के छात्र इसमें भाग ले रहें हैं। एक महीने तक चलने वाली इस प्रतियोगिता में टेबल टेनिस, बैडमिंटन, वॉलीबॉल, फुटबॉल, बास्केटबॉल तथा क्रिकेट जैसे खेलों में मुकाबले होने है।

इंटर-फैकल्टी टूर्नामेंट के आयोजन पर जामिया स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स के निर्देशक, प्रो. इक़्तेदार मोहम्मद ख़ान

वहीं इंटर-फैकल्टी टूर्नामेंट के आयोजन पर जामिया स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स के निर्देशक, प्रो. इक़्तेदार मोहम्मद ख़ान ने भाग ले रहे सभी छात्रों को बधाई दी तथा सभी से खेल भावना के साथ इसमें सम्मिलित होने की बात कहीं। उन्होंने कहा कि “मैं सभी प्रतिभागियों को उनके बेहतर खेल के लिए मुबारकबाद देता हूँ और उम्मीद करता हूँ कि सभी आपसी भाईचारे से, अपने प्रतिद्वंदियों का सम्मान करते हुए, खेल भावना के साथ अपना सर्वश्रेष्ठ देंगे।” साथ ही उन्होंने टूर्नामेंट में रिकॉर्ड आवेदन प्राप्त होने पर शिक्षकों को खेल की ओर अपने विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करने और प्रशासनिक मदद के लिए कुलपति का साधुवाद किया।

प्रो. इक़्तेदार ने कहा कि “छात्रों का पढ़ाई के साथ-साथ खेल की ओर भी बढ़ता रुझान उनके अध्यापकों के निरंतर प्रोत्साहन की वजह से है, जो इस बात को बखूबी समझते है कि दोनों खेल और शिक्षा छात्रों के विकास के लिए आवश्यक है। इसे साकार करने में हमारे वाइस चांसलर साहब प्रो. तलत अहमद का एक महत्वपूर्ण योगदान है। वे लगातार विश्वविद्यालय को एक नई ऊंचाई प्रदान कर रहे हैं, यह एक ऐसे कुलपति हैं जो हर समय विद्यार्थियों और अध्यापकों के लिए उपलब्ध रहते हैं। हमें विद्यार्थियों के लिए इस तरह की प्रतियोगिताएँ आयोजित करने में उनकी पूरी सहायता मिलती है, जिसमें संस्थान को प्रत्येक खेल में एक अच्छे खिलाड़ी मिलने की संभावना होती है। यह इसी का परिणाम है कि जामिया क्वालिटी एजुकेशन के साथ-साथ खेल के क्षेत्र में भी नई बुलंदियों को छू रहा है।”

गौरतलब है कि पिछले साल जामिया मिल्लिया इस्लामिया ने नॉर्थ-ज़ोन इंटर-यूनिवर्सिटी बास्केटबॉल चैम्पयनशिप की मेज़बानी की थी, जिसे करते हुए विश्वविद्यालय की टीम ने उस खिताब को भी जीता था।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *