About Us

हमारे बारे में 

सदा ए भारत एक सप्ताहिक उर्दू अखबार है जो दिल्ली से प्रकाशित होता है। सदाए भारत समाचार रजिस्ट्रार ऑफ इंडिया (RNI) में पंजीकृत है। हम ने उसी को हिंदी,उर्दू और इंग्लिश भाषा में ऑनलाइन शुरू किया है। सदाए भारत को हिंदी भाषा में ऑनलाइन लाइन शुरू करने की जरूरत क्यों महसूस हुई , इस का सबसे बड़ा कारण यह है की मुसलमानों की और भारत की धर्मनिरपेक्ष जनता की आवाज केवल उर्दू अखबारों तक ही सिमित रहती है जिस की वजह से उनकी आवाज़ दबी रह जाती है और वह दूर की आवाज नहीं बन पाती और न सियासी व सरकारी सिस्टम के कानों तक पहुँचती है।

हम ने इन्हीं सब कारणों की वजह से यह छोटी सी कोशिश शुरू की। हमारे साथ कुछ ऐसे पत्रकार और गैर पत्रकार जुड़े हैं जिन में हाईकोर्ट व सुप्रीमकोर्ट के अधिवक्ता, एजुकेशनिस्ट ,समाजिक, पुर्व भारतीय नोकरशाह,डॉक्टर, व अन्य शामिल हैं जो अपने सुझावों से हमें आगाह करते रहते हैं और उन्हीं की बदौलत सदा ए भारत बहुत ही कम समय में उन ऊंचाइयों तक पहुंच गया जिसका अंदाज़ा हमें नहीं था। सदाए भारत हिदुस्तान के उन तमाम प्रांतों में काफी पड़हा जाता है जहां जनता जागरूक और शिक्षित है।

सदा ए भारत एक मिशन है और इसी उद्देश्य के तहत यह शुरू किया गया है वरना यूं तो बहुत सारी वेबसाइट मौजूद हैं लेकिन सदा ए भारत उन में अलग है और जब आप यहां कुछ पड़हने के लिए आते हैं तो आप को बखूबी अंदाजा होगा।

सदा ए भारत किसी के झुकाव या किसी के अधीन काम नहीं करता बल्कि पत्रकारिता का जो सिद्धांत है उसके तहत काम करता है फिर भी अगर किसी को लगता है कि पत्रकारिता की गुणवत्ता से सदा ए भारत हटा हुआ है तो सलाह दे सकता है। जैसा कि मिशन के बारे में ऊपर उल्लेख किया गया है तो हम ज्यादातर उन की आवाजों को बुलंद करते हैं जिन की आवाज़ कोई नहीं उठाता है या उनकी आवाज़ दबा जी जाती है। उसी आवाज को हम राजनीतिक और सरकारी गलियारों तक पहुंचाते हैं। उनके अधिकारों की लड़ाई अंतिम दम तक लड़ते हैं। इसके अलावा सदा ए भारत सिस्टम के खिलाफ आवाज उठाता है जब कहीं लगता है कि सिस्टम में जनता की भलाई के लिए काम नहीं किया जा रहा।

सदा ए भारत भारत के बल्कि बाहर के देशों, जैसे सऊदीअरब, अरब एमिरात, पाकिस्तान बांलादेश, जापान, चीन, अमेरिका,लंदन, फ्रांस व अन्य में काफी पढ़ा है और देखा जाता है। सदा ए भारत हिंदुस्तान के मुस्लिम समुदाय और धर्मनिरपेक्ष मानसिकता वाले लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है और तेजी के साथ अपनी जगह बना रहा है। वेबसाइट पर डेली हजारों की संख्या में पाठक आते हैं। सदा ए भारत अब तक बिना किसी लाभ के यह काम निभा रहा है इसलिए उनलोगों से अनुरोध जो ऐसे कामों के लिए हेल्प करते है कि वह इसे आगे बढ़ाने में सहयोग करें ताकि जिस मिशन को हम ने शुरू किया है वह सफल हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *